High Quality Backlinks Free | बैकलिंक कैसे बनाए जाते है

backlinks

Quality Backlinks क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाए जाते है

मैं बताउंगी कैसे क्वालिटी बैकलिंक बनाये जिस से गूगल सर्च एंजिन (Google search engine)  मे अच्छे परिणाम दिखायीं दें | अच्छे सर्च रिजल्ट्स आपकी वेबसाइट कि रैंकिंग भी अच्छी हो जाती है | बैकलिंक बनाना तो बहुत आसान होता है. किसी वेबसाइट को विजिट करो और कमेंट करते हुए अपना URL डालो और बन गया बैकलिंक | पर क्या यह क्वालिटी बैकलिंक है या नहीं? आईये बताती हूँ इस बारे में 

backlinks
pic credit

 

 

अच्छा बैकलिंक क्या होता है

बाहरी लिंक जो कमेंटिंग कर के बनाये जाएँ उन्हें बैकलिंक्स कहा जाता है | इन्हे सोशल बुकमार्किंग से भी बनाया जा सकता है | सोशल बुकमार्किंग आर्टिकल सबमिट कर के कि जा सकती hai

 

बैकलिंक कई तरह के होते हैं जैसे कि

 

External Backlinks

अपनी वेबसाइट पर किसी और वेबसाइट का लिंक देना एक्सटर्नल लिंकिंग होता है

 

Internal Backlinks

एक ही वेबसाइट कि अलग अलग पोस्ट्स के लिंक देने को इंटरनल लिंकिंग कहते हैं

Do Follow Backlinks

जैसे अगर एक ब्लॉग पर कमेंट करते हुए आप अपनी वेबसाइट का URL डालें, और कोई और विजिटर उस लिंक से आपका ब्लॉग चलाये | इससे हम डू फॉलो बैकलिंक कहेंगे

No Follow Backlinks

अगर किसी लिंक पर क्लिक करने से वह वहीँ पर ओपन हो जाए और नयी window में ना जाए तो उससे नो फॉलो बैकलिंक कहेंगे

 

गूगल पिंग (Google Ping) में बैकलिंक्स कैसे बनाये

गूगल पिंग का इस्तेमाल करने से आपकी अलेक्सा रैंकिंग भी अच्छी हो जाएगी और आपकी वेबसाइट पर विजिटर भी बढ़ जायेंगे

इससे यूज़ करना बहुत ही आसान है | सबसे पहले आप googleping.com पर जाएँ उस में अपने ब्लॉग का नाम डालें

फिर आपको अपने वेबसाइट का URL उस में डालना होगा. RSS यूआरएल देना ऑप्शनल होता है

backlinks

 

सारी जानकारी भरने के बाद आपको Popular choices, Blog Services aur feed services के साथ दिए हुए CHECK ALL पर क्लिक करना है

उसके बाद पेज इ आखिर में बटन होगा SEND PINGS. captcha भरने के बाद Send Pings>>पर क्लिक करे. सारे के सारे पिंग्स में Success लिखा आ जायेगा

backlinks

क्यों जरुरी है बैकलिंक्स बनाना

ध्यान रखिये, जितने ज्यादा बैकलिंक्स उतना ही गूगल आपको सर्च में सब से ऊपर दिखायेगा | जितना ऊपर आपका आर्टिकल दिखाई देगा उतने ही विजिटर ज्यादा आएंगे. इन सब से एक वेबसाइट कि अलेक्सा रैंकिंग (Alexa rank) भी सुधर जाती है | जितना अलेक्सा में रैंक कम हो उतना ही अच्छा होता है |

 

बाकी आप हमेशा अपने ब्लॉग पर क्वालिटी कंटेंट (Quality content) दे. हर कोई अच्छा कंटेंट ही पढ़ना चाहता है | इस तरह से अपने आप आपको बैकलिंक्स मिल जायेंगे

1 Trackbacks & Pingbacks

  1. Insurance kya hoti hai | Types of insurance in hindi - Apron Mom Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*